सामाजिक आर्थिक भिन्नता, मेलजोल का अभाव, परीक्षा का तनाव छात्रों में पैदा कर रहा विकार

आईएएनएस

नई दिल्ली, 19 मार्च (आईएएनएस)। बीते दिनों चेन्नई, तेलंगाना, राजस्थान, मुंबई, पुणे, वाराणसी आदि समेत अन्य कई शहरों में छात्रों द्वारा आत्महत्या जैसे दुखद कदम उठाने की घटनाएं सामने आई हैं। अलग-अलग शहरों में छात्रों द्वारा की गई आत्महत्या के अलग-अलग कारण हो सकते हैं। लेकिन विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी डब्ल्यूएचओ बताता है कि लगभग 10 प्रतिशत किशोर वैश्विक स्तर पर मानसिक विकार का अनुभव करते हैं।

 

 

To get full access of the story, click here to subscribe to IANS News Service

For susbcription contact   Dakul Seth   +91-9650730303   [email protected]

© 2023 आईएएनएस इंडिया प्राइवेट लिमिटेड। सर्वाधिकार सुरक्षित।
किसी भी रूप में कहानी / फोटोग्राफ के प्रजनन कानूनी कार्रवाई के लिए उत्तरदायी होगा।

समाचार, विचार और गपशप के लिए, अनुगमन करें @IANSLIVE at ट्विटर हमें यहाँ तलाशें

 

अंतिम नवीनीकृत: 19 मार्च, 2023

 

संबंधित समाचार
संबंधित विषय

राष्ट्रीय



वीडियो गैलरी