कोरोना से टूटे परिवारों का कंधा बने पांच नौजवान
कोरोना से टूटे परिवारों का कंधा बने पांच नौजवान

आईएएनएस

लखनऊ, 3 मई (आईएएनएस)। कोरोनाकाल की इस आपदा में न अपने साथ हैं न पराए। बीमारी होने पर तो लोग दूर भाग ही रहे हैं। मरने के बाद शव भी इस इंतजार में उसे अन्तिम पड़ाव तक कौन पहुंचाएगा। शुक्र है लखनऊ के इन पांच नौजवानों का जिन्होंने इस जिम्मेदारी को अपने कंधे पर उठाया है। यह पांच युवक न केवल कोरोना संक्रमित शव को कंधा देकर श्मशान भूमि तक ले जा रहे बल्कि अंतिम संस्कार भी कर रहे हैं। इनमें गरीब लोगों का खर्च यह लोग अपनी जेब से आपस में मिल बांटकर कर रहे हैं।

To get full access of the story, click here to subscribe to IANS News Service

© 2021 आईएएनएस इंडिया प्राइवेट लिमिटेड। सर्वाधिकार सुरक्षित।
किसी भी रूप में कहानी / फोटोग्राफ के प्रजनन कानूनी कार्रवाई के लिए उत्तरदायी होगा।

समाचार, विचार और गपशप के लिए, अनुगमन करें @IANSLIVE at ट्विटर हमें यहाँ तलाशें

अंतिम नवीनीकृत: 03 मई, 2021

संबंधित समाचार
संबंधित विषय

राष्ट्रीय



वीडियो गैलरी