रावलपिंडी में डेंगू के खिलाफ अभियान तेज

रावलपिंडी में डेंगू के खिलाफ अभियान तेज

रावलपिंडी, 16 सितम्बर (आईएएनएस)| पाकिस्तानी शहर रावलपिंडी में डेंगू बुखार को फैलने से रोकने के लिए अभियान तेज कर दिया गया है। इस साल अब तक 1,462 में डेंगू की जांच पाजिटिव पाए जाने के बाद यह कदम उठाया गया है। द न्यूज इंटरनेशनल के मुताबिक, रविवार को मीडिया को जिला स्वास्थ्य अधिकारी (डीएचओ) जीशान ने बताया कि वर्तमान में अस्पतालों में 485 डेंगू रोगियों का इलाज चल रहा है, जिनमें से 334 की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।



देश में तीन माह में 4 हजार हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर खोलेगा आयुष

देश में तीन माह में 4 हजार हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर खोलेगा आयुष

 नई दिल्ली, 15 सितंबर (आईएएनएस)| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार की महत्वकांक्षी योजना आयुष्मान भारत के तहत आयुष मंत्रालय देश में अगले तीन माह के भीतर चार हजार हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर खोलेगा।

मेडिकल गलतियों के कारण हर साल 26 लाख लोगों की मौत : डब्ल्यूएचओ

मेडिकल गलतियों के कारण हर साल 26 लाख लोगों की मौत : डब्ल्यूएचओ

जिनेवा, 14 सितम्बर (आईएएनएस)| चिकित्सकों की गलतियों की वजह से हर साल 13.8 करोड़ से अधिक मरीजों को नुकसान पहुंचता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने 'वर्ल्ड पेशेन्ट सेफ्टी डे' मनाने के महज कुछ दिन पहले यह चेतावनी दी है। इस दिवस को मनाने का मकसद इस त्रासदी के प्रति जागरूकता बढ़ाना है।

सात माह के बच्चे के पेट से निकाला दुर्लभ ट्यूमर, मिली नई जिंदगी

सात माह के बच्चे के पेट से निकाला दुर्लभ ट्यूमर, मिली नई जिंदगी

कोलकाता, 13 सितंबर (आईएएनएस)| पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों ने सात महीने के एक बच्चे के पेट से 750 ग्राम वजनी एक दुर्लभ ट्यूमर को सफलतापूर्वक निकालकर उसे नई जिंदगी दी। यह बच्चा एक जन्मजात विसंगति फिटुस इन फिटु (एफआईएफ) से ग्रस्त था। यह बीमारी ऊतक (टिश्यू) से संबंधित है, जिसमें शरीर के अंदर एक भ्रूण जैसा ट्यूमर विकसित हो जाता है। विशेषज्ञों के अनुसार, एफआईएफ भारत में एक अत्यंत दुर्लभ घटना है।

बिहार : 7 जिलों के अस्पतालों में ब्लड बैंक स्थापित होंगे

बिहार : 7 जिलों के अस्पतालों में ब्लड बैंक स्थापित होंगे

पटना, 13 सितंबर (आईएएनएस)| बिहार के कई जिलों में ब्लड बैंक की कमी को देखते हुए बिहार मेडिकल सर्विसेज व इन्फ्रास्ट्रक्च र कॉरपोरेशन लिमिटेड (बीएमएसआइसीएल) जल्द ही ब्लड बैंक स्थापित करेगा। बीएमएसआइसीएल के एक अधिकारी ने बताया कि सुपौल, शिवहर, पूर्वी चंपारण, अरवल, बांका, दरभंगा और भागलपुर में जल्द ही ब्लड बैंक की स्थापना की जाएगी। उन्होंने बताया कि इन जिलों में ब्लड बैंक के निर्माण के लिए निविदा जारी कर दी गई है। इन सभी जिलों में ब्लड बैंक का निर्माण करने में एक करोड़ रुपये से ज्यादा की लागत आएगी।

दिल्ली सरकार ने स्तनपान कक्ष बनाने के लिए नीति का मसौदा तैयार किया

दिल्ली सरकार ने स्तनपान कक्ष बनाने के लिए नीति का मसौदा तैयार किया

 नई दिल्ली, 10 सितम्बर (आईएएनएस)| वैश्विक प्रचलन को अपनाने के लिए दिल्ली सरकार का महिला एवं बाल विकास मंत्रालय राष्ट्रीय राजधानी में स्तनपान और चाइल्डकेयर कक्ष बनाने की संभावना तलाश रहा है।

फोन देखने के तरीके से सेक्स, ऊंचाई पर पड़ता है असर : शोध

फोन देखने के तरीके से सेक्स, ऊंचाई पर पड़ता है असर : शोध

न्यूयॉर्क, 7 सितम्बर (आईएएनएस)| लोगों द्वारा अपने मोबाइल या दूसरे उपकरणों को देखने के लिए अपनी गर्दन मोड़ने पर सेक्स व ऊंचाई पर असर पड़ता है। अमेरिका में फोन व टैबलेट के स्वामित्व के बढ़ने के साथ डेस्कटॉप या लैपटॉप कंप्यूटर इस्तेमाल की तुलना में गर्दन के मोड़ने या झुकाने के तरीकों में बढ़ोतरी हुई है।

डेट नहीं करने वाले किशोर/किशोरियों में डिप्रेशन होता है कम

डेट नहीं करने वाले किशोर/किशोरियों में डिप्रेशन होता है कम

न्यूयॉर्क, 5 सितम्बर (आईएएनएस)| शोधकर्ताओं ने पाया है कि जो टीनएजर्स कभी किसी रोमांटिक रिश्ते में नहीं रहे हैं उनमें डेट करने वालों की तुलना में सामाजिक कौशल बेहतर होता है और उनमें अवसाद की मात्रा भी बेहद कम होती है। शोध में पाए गए नतीजे इस बात का खंडन करते हैं कि नॉन-डेटर्स या जो डेट नहीं करते हैं, वे परेशान रहते हैं। शोधकर्ताओं ने कहा कि जिन स्कूलों में स्वास्थ्य को बढ़ावा दिया जाता है वहां नॉन-डेटिंग को बेहतर स्वास्थ्य के विकास के एक विकल्प के तौर पर शामिल किया जाना चाहिए।

मलेरिया से हृदयाघात की 30 फीसदी अधिक संभावना

मलेरिया से हृदयाघात की 30 फीसदी अधिक संभावना

 पेरिस, 2 सितम्बर (आईएएनएस)| एक नए शोध में बताया गया है कि मलेरिया संक्रमण के कारण हृदयघात (हार्ट फेल) होने की 30 फीसदी से अधिक संभावना है।

भारत का ई-सिगरेट को प्रतिबंधित करने का कदम दोषपूर्ण : कैंसर विशेषज्ञ

भारत का ई-सिगरेट को प्रतिबंधित करने का कदम दोषपूर्ण : कैंसर विशेषज्ञ

नई दिल्ली, 29 अगस्त (आईएएनएस)| कैंसर विशेषज्ञों का कहना है कि भारत में हर हफ्ते तंबाकू का उपयोग, खासकर धूम्रपान भारी मात्रा में की जाती है। ऐसे में सरकार का ई-सिगरेट को प्रतिबंधित कर, सामान्य सिगरेट की बिक्री की अनुमति देना कहीं से उचित नहीं है। बीसीबीपीएफ- द कैंसर फाउंडेशन द्वारा आयोजित एक प्रेस मीट को संबोधित करते हुए, इटली के कैटेनिया विश्वविद्यालय में क्लिनिकल एंड एक्सपेरिमेंटल मेडिसिन विभाग के रिकाडरे पोलोसा, मेलबर्न विश्वविद्यालय में साइकोलॉजी के प्रोफेसर रॉन बोरलैंड और यहां के अपोलो कैंसर संस्थान में वरिष्ठ सलाहकार व सर्जिकल ऑन्कोलॉजी और रोबोटिक्स समीर कौल ने देश में इलेक्ट्रॉनिक निकोटिन डिलीवरी सिस्टम (ईएनडीएस) को प्रतिबंधित करने के कदम पर सवाल उठाया है।

वीडियो गैलरी

© 2019 आईएएनएस इंडिया प्राईवेट लिमिटेड.
हमें बुकमार्क करना ना भूलें! (CTRL-D)
साइट द्वारा डिज़ाइन किया गया: आईएएनएस