बौद्धिक संपदा सुरक्षा कानून को सख्ती से लागू किया जाना चाहिए : सुरेश प्रभु
बौद्धिक संपदा सुरक्षा कानून को सख्ती से लागू किया जाना चाहिए : सुरेश प्रभु

--आईएएनएस

नई दिल्ली, 16 मई (आईएएनएस)| केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने बुधवार को कहा कि बौद्धिक संपदा अधिकार की सुरक्षा के लिए केवल कानूनी प्रावधानों का होना ही पर्याप्त नहीं है बल्कि इन्हें सख्ती से लागू किया जाना चाहिए। प्रभु ने यहां राष्ट्रीय बौद्धिक संपदा अधिकार कानून पर आयोजित सम्मेलन के दौरान यह बात कही।

सुरेश प्रभु ने कहा, "ज्ञान आधारित समाज के निर्माण के लिए बौद्धिक संपदा अधिकार की सुरक्षा महत्वपूर्ण है। बौद्धिक संपदा अधिकार की सुरक्षा के लिए केवल कानूनी प्रावधान ही पर्याप्त नहीं है बल्कि इन्हें सख्ती से लागू किया जाना चाहिए।"

प्रभु ने कहा, "पायरेसी एक गंभीर अपराध है और अपराधी को दंडित किया जाना चाहिए। बौद्धिक संपदा अधिकार के चोरी किए जाने के संदर्भ में जागरूकता फैलानी चाहिए और इस प्रयास में समाज की हिस्सेदारी सुनिश्चित की जानी चाहिए।"

उन्होंने इस सम्मेलन के दौरान राष्ट्रीय संपदा के प्रतीक चिन्ह, आईपी नानी का शुभारंभ किया। समारोह के दौरान केंद्रीय मंत्री ने एंटी पायरेसी वीडियो भी लांच किया। इस वीडियो में अमिताभ बच्चन ने भूमिका निभाई है।

मस्कट आईपी नानी तकनीक को समझने, उपयोग करने वाली एक नानी है जो अपने पोते 'छोटू'-आदित्य की सहायता से आईपी अपराधों से लड़ने में सरकार तथा एजेंसियों की मदद करती है। यह आईपी मस्कट सुरुचिपूर्ण ढंग से लोगों विशेषकर बच्चों में बौद्धिक संपदा अधिकार के प्रति जागरूकता फैलाएगा।

 

© 2018 आईएएनएस इंडिया प्राइवेट लिमिटेड। सर्वाधिकार सुरक्षित।
किसी भी रूप में कहानी / फोटोग्राफ के प्रजनन कानूनी कार्रवाई के लिए उत्तरदायी होगा।

समाचार, विचार और गपशप के लिए, अनुगमन करें @IANSLIVE at ट्विटर हमें यहाँ तलाशें फेसबुक पर भी!

अंतिम नवीनीकृत: 16 मई, 2018

संबंधित समाचार
संबंधित विषय

राष्ट्रीय



वीडियो गैलरी

© 2018 आईएएनएस इंडिया प्राईवेट लिमिटेड.
हमें बुकमार्क करना ना भूलें! (CTRL-D)
साइट द्वारा डिज़ाइन किया गया: आईएएनएस