मेरा अनुभव मुझे मजबूती देता है : श्रीजेश

मेरा अनुभव मुझे मजबूती देता है : श्रीजेश

हॉकी में जब भी सर्वश्रेष्ठ गोलकीपरों की बात होती है तो भारत के पी.आर. श्रीजेश का नाम जरूर लिया जाता है। भारतीय हॉकी को भी उन्होंने कई वर्षो तक अपने कंधे पर अकेले उठाया है। अब हालांकि भारत के पास कुछ युवा गोलकीपर हैं जो श्रीजेश के बाद टीम में देखे जा रहे हैं।

 

ब्रिटेन दौरे का लाभ ओलंपिक क्वालीफायर में मिलेगा :

ब्रिटेन दौरे का लाभ ओलंपिक क्वालीफायर में मिलेगा :

भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल अगले महीने होने वाले ओलम्पिक क्वालीफायर मैचों के लिए सकारात्मक हैं। उनका कहना है कि ग्रेट ब्रिटेन के हालिया दौरे से उनकी टीम को लाभ मिला है क्योंकि जिस अमेरिका के साथ भारत को ओलम्पिक क्वालीफायर खेलना है उसका और ग्रेट ब्रिटेन का खेल लगभग एक जैसा है।

 

अब डब्ल्यूडब्ल्यूई में जलवा बिखेरेंगे भारत के रिंक

अब डब्ल्यूडब्ल्यूई में जलवा बिखेरेंगे भारत के रिंक

भारत के पहले प्रोफेशनल बेसबॉल खिलाड़ी बनने का गौरव हासिल करने वाले रिंकू सिंह अब प्रोफेशनल वर्ल्ड रेसलिंग इंटरटेंमेंट (डब्ल्यूडब्ल्यूई) में अपना जलवा बिखेरने के लिए तैयार हैं।

 

आशा भोसले हुईं 86 की, बोलीं-आज भी गाना सुनकर जागती

आशा भोसले हुईं 86 की, बोलीं-आज भी गाना सुनकर जागती

छह दशकों के अपने सफल करियर के साथ आज भी वह सफलताओं की बुलंदियों को छू रही हैं। पद्म विभूषण से सम्मानित दिग्गज गायिका आशा भोसले रविवार को 86 वर्ष की हो गईं।

 

भारतीयों को अपनी संस्कृति बचानी चाहिए : बाला देवी

भारतीयों को अपनी संस्कृति बचानी चाहिए : बाला देवी

दुनियाभर के कई देशों में अपनी नृत्य प्रस्तुति दे चुकीं मशहूर भरतनाट्यम नृत्यांगना बाला देवी चंद्रशेखर ने हाल ही में राष्ट्रीय राजधानी में एक कार्यक्रम 'बृह्दिश्वरा : फॉर्म टू फॉर्मलेस' में आकर्षक प्रस्तुति दी। बाला देवी का मानना है कि भारतीय लोग पश्चिम के लोगों की नकल करते हैं, लेकिन पश्चिमी लोग हमारी संस्कृति की ओर आकर्षित हो रहे हैं। वे हमारे रहन-सहन को अपना रहे हैं, ऐसे में भारतीयों को अपनी संस्कृति को संरक्षित करना चाहिए।

 

मेरा सम्मान 'सबका साथ, सबका विकास' का सही उदाहरण :

मेरा सम्मान 'सबका साथ, सबका विकास' का सही उदाहरण :

इस साल खेल के क्षेत्र में भारत का सर्वोच्च सम्मान-राजीव गांधी खेल रत्न जीतने वाली पहली महिला पैरा-एथलीट दीपा मलिक ने यह सम्मान अपने पिता बाल कृष्णा नागपाल को समíपत किया है और साथ ही कहा है कि उनका यह सम्मान सही मायने में 'सबका साथ-सबका विकास' है।

 

विश्व चैंपियनशिप में भाग लेना सपना सच होने जैसा :

विश्व चैंपियनशिप में भाग लेना सपना सच होने जैसा :

स्ट्रांजा कप मुक्केबाजी टूर्नामेंट में रजत और इंडिया ओपन तथा थाईलैंड ओपन में कांस्य पदक जीतने वाली भारत की महिला मुक्केबाज मंजू रानी का मानना है कि एआईबीए वुमेन्स वल्र्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में भाग लेना उनके लिए सपने सच होने जैसा है।

 

यूनाइटेड इंडिया के रूप में तेजी से उभर रहा है भारत

यूनाइटेड इंडिया के रूप में तेजी से उभर रहा है भारत

पूर्व राज्यसभा सांसद, उद्योगपति और समाजसेवी संजय डालमिया का कहना है कि पिछले कुछ वर्षो में भारत ने अपने वैश्विक कद को बढ़ाया है और धार्मिक असमानताओं को पीछे छोड़कर एक एकजुट राष्ट्र (युनाइटेड इंडिया) के रूप में उभरा है।

 

टैकल ही मेरी सबसे बड़ी ताकत है : रविन्दर पहल

टैकल ही मेरी सबसे बड़ी ताकत है : रविन्दर पहल

प्रो-कबड्डी लीग (पीकेएल) की टीम दबंग दिल्ली के राइट कॉर्नर रविन्दर पहल के पास 20 जुलाई से शुरू हो रही लीग के सातवें सीजन में मंजीत छिल्लर के सबसे ज्यादा टैकल प्वाइंट्स के रिकॉर्ड को तोड़ने का मौका है।

 

कप्तान के रूप में मेरे ऊपर कोई दबाव नहीं : नितेश

कप्तान के रूप में मेरे ऊपर कोई दबाव नहीं : नितेश

प्रो-कबड्डी लीग (पीकेएल) के सातवें सीजन के लिए यूपी योद्धा टीम के कप्तान बनाए गए डिफेंडर नितेश कुमार ने कहा है कि बतौर कप्तान उनके ऊपर कोई दबाव नहीं है। उन्होंने कहा कि सभी खिलाड़ी मिलकर टीम को आगे ले जाने का काम करेंगे।

 

वीडियो गैलरी

© 2019 आईएएनएस इंडिया प्राईवेट लिमिटेड.
हमें बुकमार्क करना ना भूलें! (CTRL-D)
साइट द्वारा डिज़ाइन किया गया: आईएएनएस