कोच के तौर पर खिलाड़ी जैसा प्रदर्शन बड़ी चुनौती :

कोच के तौर पर खिलाड़ी जैसा प्रदर्शन बड़ी चुनौती :

भारत की राष्ट्रीय कबड्डी टीम के पूर्व कप्तान और प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) फ्रेंचाइजी पुनेरी पल्टन के कोच अनूप कुमार ने एक खिलाड़ी के तौर पर अपने फन से दुनिया को अभिभूत किया है लेकिन अब वह नई भूमिका में हैं और उनका मानना है कि कोच के रूप में खिलाड़ी जैसा प्रदर्शन देना उनके लिए एक बड़ी चुनौती है।

 

रोहित ने ठान लिया है, विश्व कप जीतकर ही मानेगा : क

रोहित ने ठान लिया है, विश्व कप जीतकर ही मानेगा : क

इंग्लैंड एवं वेल्स में जारी आईसीसी विश्व कप में इस समय सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज भारत के रोहित शर्मा क्रिकेट के इस महाकुम्भ में हर दिन नए रिकार्ड बनाते जा रहे हैं। अब तक पांच शतक लगा चुके रोहित की बल्लेबाजी देख सभी अचरज में हैं। आलम यह है कि हमेशा रनों के मामले में आगे रहने वाले भारत के कप्तान विराट कोहली इस समय विश्व कप में रोहित से पीछे हैं।

 

वेब ने लिमिटेशंस कम किए : श्रवण रेड्डी

वेब ने लिमिटेशंस कम किए : श्रवण रेड्डी

'जर्सी नंबर 10', 'ये है आशिकी' और 'एमटीवी स्पिलट्सविला' जैसे शोज में काम कर चुके अभिनेता श्रवण रेड्डी का मानना है कि वेब ने बड़े पैमाने पर अवसर प्रदान किए हैं और सीमाओं को कम किया है।

 

दबाव में आने का नहीं, खुद को साबित करने का वक्त :

दबाव में आने का नहीं, खुद को साबित करने का वक्त :

तीन बार प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) खिताब जीत चुकी पटना पाइरेट्स टीम बीते सीजन में चौथी बार खिताब से चूक गई थी, लेकिन आगामी सातवें सीजन में पटना एक बार फिर ट्रॉफी जीतने के लिए प्रतिबद्ध है।

 

आजकल सिर्फ टैलेंट बिकता है : सलमान अली

आजकल सिर्फ टैलेंट बिकता है : सलमान अली

दिल को छू लेने वाली अपनी आवाज के दम पर हरियाणा के एक छोटे से कस्बे मेवात से लंबा सफर तय करते हुए इंडियन आइडल 10 के विनर बनने वाले सलमान अली का मानना है कि जिसमें हुनर हो, उसे किसी गॉडफादर की जरूरत नहीं होती और आज के समय में सिर्फ टैलेंट बिकता है।

 

सिंधु का सामना करके लगा कि शीर्ष स्तर पर पहुंच सकत

सिंधु का सामना करके लगा कि शीर्ष स्तर पर पहुंच सकत

 किसी भी खिलाड़ी की असल परीक्षा तब होती है जब वह अपने से बेहतर और ऊंचे स्तर के खिलाड़ी के साथ खेलता है।

पांच साल बाद मिले मौके को यादगार बनाया : सिद्देश

पांच साल बाद मिले मौके को यादगार बनाया : सिद्देश

किसी टीम के साथ पांच साल तक बने रहना और इतने लंबे अतंराल के बाद उस टीम के लिए पदार्पण करना बताता है कि खिलाड़ी के भीतर कितना धैर्य है। सिद्देश लाड़ के साथ कुछ ऐसा ही हुआ है। वह मुंबई इंडियंस के साथ पांच साल से थे लेकिन 2019 में उन्हें पदार्पण करने का मौका मिला।

 

सेट होने से पहले कोहली को आउट करना होगा : बाउल्ट

सेट होने से पहले कोहली को आउट करना होगा : बाउल्ट

न्यूजीलैंड के अनुभवी तेज गेंदबाज ट्रेंट बाउल्ट ने कहा है कि भारतीय कप्तान विराट कोहली को रोकने के लिए उन्हें सेट होने से पहले ही आउट करना होगा।

 

ओलम्पिक की तैयारी के लिए समय कम, जो है उसे भुनाना

ओलम्पिक की तैयारी के लिए समय कम, जो है उसे भुनाना

 भारतीय हॉकी टीम को आठ अप्रैल को ग्राहम रीड केरूप में नया कोच मिला। यह नियुक्ति तब हुई जब भारत के पास ओलम्पिक की तैयारी के लिए सिर्फ डेढ़ साल का समय बचा है।

कोहली और स्मिथ ने खेल को बेहद आसान बना दिया है : स

कोहली और स्मिथ ने खेल को बेहद आसान बना दिया है : स

इंग्लैंड एंड वेल्स में विश्व कप की शुरुआत 30 मई से हो रही है, जिसमें मेजबान टीम को खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा है। कई दिग्गजों का मानना है कि यह इंग्लैंड की टीम के लिए अतिरिक्त दबाव है लेकिन टीम के हरफनमौला खिलाड़ी बेन स्टोक्स का मत अलग है।

 

वीडियो गैलरी

© 2019 आईएएनएस इंडिया प्राईवेट लिमिटेड.
हमें बुकमार्क करना ना भूलें! (CTRL-D)
साइट द्वारा डिज़ाइन किया गया: आईएएनएस