ताज़ा खबर
ऑस्टियोपोरोसिस में हड्डियों के टूटने की संभावना अधिक

ऑस्टियोपोरोसिस में हड्डियों के टूटने की संभावना अधिक  

19 अक्टूबर, 2018  

नई दिल्ली, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)| बुजुर्गो या उम्र बढ़ने पर हड्डियों का कमजोर होना यानी ऑस्टियोपोरोसिस एक आम समस्या है, जिससे उनके टूटने/ फ्रैक्च र की संभावना बढ़ जाती है। विशेष रूप से कूल्हे, रीढ़ की हड्डी और कलाई की हड्डी में फ्रैक्च र की संभावना अधिक होती है। ऐसी स्थिति में जरा सी चोट लगने या कहीं टकराने पर भी हड्डी टूट जाती है। जेपी हॉस्पिटल के आर्थोपेडिक्स विभाग के चिकित्सक डॉ. अभिषेक कुमार का कहना है कि ऑस्टियोपोसिस के कारण हड्डी टूटने की संभावना 50 फीसदी लोगों में होती है, जबकि स्तन कैंसर की संभावना 9 फीसदी लोगों में तथा दिल की बीमारियों की संभावना 31 फीसदी लोगों में होती हैं। ऑस्टियोपोसिस के कारण हड्डी टूटना एक बड़ी समस्या है, जो अक्सर उम्र बढ़ने के साथ होती है।



आर्थराइटिस और ऑस्टियोपोरोसिस में अंतर समझें

आर्थराइटिस और ऑस्टियोपोरोसिस में अंतर समझें  (18 अक्टूबर, 2018)

नई दिल्ली, 18 अक्टूबर (आईएएनएस)| हड्डियों का कमजोर होना उम्र से जुड़ी एक प्रक्रिया है, आमतौर पर 50 से 60 की उम्र के बाद हड्डियां कमजोर होने लगती हैं, ज्यादातर लोगों को इसके कारण जोड़ों के दर्द, ऑर्थराइटिस और ऑस्टियोपोरोसिस जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। हड्डियों के कमजोर होने के कारण हड्डियों की बीमारियों की संभावना बढ़ जाती है। ऐसी कई बीमारियां हैं, जिनका असर हमारी हड्डियों पर पड़ता है लेकिन अक्सर लोग इनके बीच का अंतर नहीं समझ पाते। इन्द्रप्रस्थ अपोलो हॉस्पिटल के ऑथ्रोपेडिक्स के सीनियर कन्सलटेन्ट डॉ. यश गुलाटी ने ऑर्थराइटिस और ऑस्टियोपोरोस जैसी हड्डी की बीमारियों के बीच अंतर बताया है।

मधुमेह रोगी त्योहारों का आनंद कैसे लें, जाने यहां

मधुमेह रोगी त्योहारों का आनंद कैसे लें, जाने यहां  (18 अक्टूबर, 2018)

नई दिल्ली, 18 अक्टूबर (आईएएनएस)| मधुमेह या डायबिटीज से पीड़ित लोगों के लिए अनियमित उपवास और त्योहार के बाद बार-बार खाते रहना हानिकारक साबित हो सकता है। भारत में लगभग 7.2 करोड़ मधुमेह रोगी हैं, जिनके 2025 तक 13.4 करोड़ तक होने की उम्मीद है। मधुमेह के रोगियों को त्योहारों का आनंद लेने के विशेष सावधानी और देखभाल की जरूरत होती है। बीटओ की डायबिटीज एजूकेटर चेतना शर्मा ने कहा, "मधुमेह वाले लोगों के लिए रक्तचाप के आवश्यक लेवल को बनाए रखने के लिए नियमित अंतराल पर कुछ खाते रहना जरूरी है। हालांकि, त्योहारों के दौरान, वे निश्चित रूप से कुछ ज्यादा खा सकते हैं, खासतौर पर उपवास खत्म होने के बाद। सामाजिक उत्सवों या पार्टी आदि में अस्वास्थ्यकर और कैलोरी से भरपूर भोजन खाने के साथ-साथ इस तरह का अनियमित भोजन पैटर्न शरीर पर बुरा असर डाल सकता है।"

वायु प्रदूषण पहुंचा रहा त्वचा को नुकसान

वायु प्रदूषण पहुंचा रहा त्वचा को नुकसान  (17 अक्टूबर, 2018)

नई दिल्ली, 17 अक्टूबर (आईएएनएस)| चिकित्सकों का कहना है कि वर्तमान वायु की गुणवत्ता लोगों के लिए खतरा बनती जा रही है। यह सीधे हमारी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकती है और चकत्ते और जलन की वजह हो सकती है। इसकी वजह से आंखों और नाक में पानी आ सकता है। बीएलके सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल के रेस्पिरेटरी मेडिसिन, एलर्जी एंड स्लीप डिसऑर्डर के सीनियर कंसलटेंट व एचओडी डॉ. संदीप नायर ने कहा, "वायु में मौजूद 2.5 माइक्रोन (पीएम 2.5) से छोटे कण सीधे सांस लेने के रास्ते हमारे शरीर में प्रवेश कर सकते हैं। हमें सांस लेने में दिक्कत, खांसी बुखार और यहां तक कि घुटन महसूस होने की समस्या भी हो सकती है। हमारा नर्वस सिस्टम भी प्रभावित हो जाता है और हमें सिरदर्द और चक्कर आ सकता है। अध्ययनों में बताया गया है कि हमारे दिल को भी प्रदूषण सीधे तौर पर नुकसान पहुंचाता है।"

अपोलो अस्पताल के कैंसर पीड़ितों के सम्मेलन में जुटे 250 लोग

अपोलो अस्पताल के कैंसर पीड़ितों के सम्मेलन में जुटे 250 लोग  (17 अक्टूबर, 2018)

नई दिल्ली, 17 अक्टूबर (आईएएनएस)| इन्द्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल ने एक विशेष कार्यक्रम के माध्यम से कैंसर से जूझ रहे मरीजों एवं इस बीमारी से उबर चुके करीब 250 लोगों को मानसिक संबल प्रदान करने और अपने विचार आदान-प्रदान करने के लिए कार्यक्रम का आयोजन किया और मुश्किल समय को आसान बनाने के टिप्स साझा किए। अस्पताल के नर्सिग डिपार्टमेन्ट सेंटर ऑफ एक्सीलेन्स के त्रैमासिक अभियान के तहत इस कार्यक्रम की शुरुआत की गई। इस दौरान हॉस्पिटल के स्टाफ ने सरवाइवर्स डायरेक्टरी, रजिस्ट्री और फेसबुक पेज को भी लॉन्च किया, जो मरीजों और सरवाइवर्स को एक दूसरे के साथ जुड़ने में मदद करेगा।

पंजाब में 43 लाख परिवारों को मिलेगा स्वास्थ्य बीमा का लाभ

पंजाब में 43 लाख परिवारों को मिलेगा स्वास्थ्य बीमा का लाभ  (17 अक्टूबर, 2018)

चंडीगढ़, 17 अक्टूबर (आईएएनएस)| पंजाब सरकार ने बुधवार को प्रदेश में 43 लाख परिवारों को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (पीएम-जेएवाई) और राज्य सरकार की योजना के तहत पांच लाख रुपये का सालाना स्वास्थ्य बीमा लाभ पहुंचाने की घोषणा की। प्रदेश सरकार के एक अधिकारी ने आईएएनएस को बताया कि पंजाब सरकार ने 14.96 लाख परिवारों के लिए पीएम-जेएवाई लागू करने के लिए केंद्र के साथ ज्ञापन समझौते (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार अपनी लागत से 28.20 लाख अतिरिक्त परिवारों को राज्य स्वास्थ्य बीमा कार्यक्रम में शामिल करेगी।

दिल के मरीजों के लिए नेचर फ्रेश का नया तेल लॉन्च

दिल के मरीजों के लिए नेचर फ्रेश का नया तेल लॉन्च  (16 अक्टूबर, 2018)

राष्ट्रीय, 16 अक्टूबर (आईएएनएस)| कारगिल फूड ब्रांड नेचर फ्रेश ने मंगलवार को दिल के मरीजों के लिए 'नेचर फ्रेश एक्टि हार्ट' खाद्य तेल लॉन्च किया, जो उनकी सक्रिय और आधुनिक जीवनशैली में उनके दिल को सेहतमंद बनाने में मदद करेगा। कंपनी की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया है कि नेचर फ्रेश एक्टि हार्ट में ओमेगा-3 की अच्छाइयां हैं, जो जलन से लड़ती हैं और एक हेल्दी लिपिड प्रोफाइल प्रदान करती हैं। इसमें ओमेगा-6, ओमेगा-3 का सही अनुपात भी है, जिसे नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूट्रिशन ने प्रमाणित किया है। साथ ही इसमें गामा ओराइजनॉल भी है, जो बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है। इसमें विटामिन ए, डी और ई भी मौजूद है।

लद्दाख क्षेत्र में त्वचा कैंसर के मामलों में वृद्धि : शोध

लद्दाख क्षेत्र में त्वचा कैंसर के मामलों में वृद्धि : शोध  (16 अक्टूबर, 2018)

नई दिल्ली, 16 अक्टूबर (आईएएनएस)| भारत के लद्दाख क्षेत्र में स्थानीय लोगों में गैस्ट्रो-इंटेस्टाइनल (जीआई) और त्वचा कैंसर के मामलों में वृद्धि हुई है। एक हालिया शोध में इस बात का खुलासा हुआ है। अध्ययन के मुताबिक अत्यधिक ऊंचाई, पराबैंगनीकिरण (यूवी) किरणों की अधिकता, ऑक्सीजन की कमी और बैठे रहने वाली जीवनशैली जीआई और त्वचा कैंसर के प्रमुख कारणों मंे शामिल हैं। शोध के मुताबिक, जीआई कैंसर में वृद्धि ज्यादातर अस्वास्थ्यकर और निष्क्रिय जीवनशैली के कारण होती है। बासी मीट खाने और गर्म पेय पदार्थो की अधिक खपत के कारण ऐसा होता है। जीआई कैंसर 40 साल से अधिक उम्र के पुरुषों में होना आम है। उन महिलाओं में भी यह अधिक होता है, जिन्हें रजोनिवृत्ति या मीनोपॉज हो चुका है। जीआई कैंसर से निपटने के लिए कैंसर उपचार और जरूरी दवाओं तक सबकी पहुंच भी नहीं हो पाती है।


वीडियो गैलरी

© 2018 आईएएनएस इंडिया प्राईवेट लिमिटेड.
हमें बुकमार्क करना ना भूलें! (CTRL-D)
साइट द्वारा डिज़ाइन किया गया: आईएएनएस